Kisan Suryoday Yojana | किसान सूर्योदय योजना | जानिए क्या है किसान सूर्योदय योजना के लाभ और प्रक्रिया

Kisan Suryoday Yojana Online Registration  | गुजरात किसान सूर्योदय योजना ऑनलाइन प्रक्रिया और लाभ | गुजरात सरकार जनवरी अंत तक किसान सूर्योदय योजना के तहत 4000 गांवों को कवर करने का प्लान 

हमारे PM नरेंद्र मोदी जी ने गुजरात के किसानो की आमदनी और उनको राहत देने के लिए 24 अक्टूबर को वीडियो कॉन्फरेंसिंग के माध्यम से किसान सूर्योदय योजना की घोषणा गुजरात सरकार द्वारा राज्य के किसानो को लाभ पहुंचाने के लिए किया | Kisan Suryoday Yojana का मुख्य उद्देश्य गुजरात के किसानो को सिचाई के लिए बिजली की सुविधा पोहचना | इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसानो को अपने खेतो में सिचाई के लिए सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक तीन फेज बिजली की आपूर्ति की जाएगी। इस blog  में हम किसान सूर्योदय योजना की साडी जानकारी पर अभ्यास करेंगे |

हाल ही में किसान सूर्योदय योजना पर गुजरात सरकार ने नया फैसला लिया है जिसमे 4000 नए गांवों को उस योजना का लाभ मिलेगा | यह योजना गुजरात के किसानो के लिए काफी लाभदायी है | इस योजना का फायदा उठकर अब किसानो को सिचाई के लिए पानी की परेशानी नहीं होगी | इस योजना के तहत अब किसानो को 3 फेज बिजली प्रत्येक दिन प्राप्त करके अपने खेतो की अच्छे से सिचाई कर सकेंगे | मुख्यमंत्री विजय रूपानी की सरकार के  अंतर्गत  2023 तक किसान सूर्योदय योजना में किसानों को दिन के दौरान सिंचाई के लिए सौर ऊर्जा प्रदान करने के लिए अगले तीन वर्षों में 3,500 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगेKisan Suryoday Yojana का लाभ उठाना के लिए किसानो को इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा | इस योजना के तहत पहले चरण में दाहोद, पाटण, महिसागर, पंचमहाल, छोटा उदयपुर, खेड़ा, आणंद और गिर-सोमना जिले को शामिल किया गया है शेष बाकि बचे जिलों को चरणबद्ध तरीके से इस योजना में शामिल किया जायेगा। गुजरात में “सुजलाम सुफलाम और सउनि योजना (दोनों सिंचाई परियोजनाएं) के बाद, अब किसान सूर्योदय योजना गुजरात के किसानों के लिए एक मील का पत्थर साबित होगी |

किसान सूर्योदय योजना का उद्देश्य

गुजरात राज्य में वैसी ही जनवरी महीने से खेती के लिए पानी की काफी समस्या रहती है | उसी के कारन किसान खेतो में सिचाई नहीं कर पा रहे है जिसकी वजह से गुजरात के किसानो को भरी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसी समस्या को देखते हुआ प्रधानमंत्री जी ने और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी के नेतृत्व में किसान सूर्योदय योजना की शुरुवात की | और पहले ज्यादातर किसानों को केवल रात में सिंचाई के लिए बिजली मिलती थी और रात भर जागना पड़ता था। गिरनार और जूनागढ़ में किसानों को जंगली जानवरों की समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है। इस लिए गुजरात सरकार ने सिंचाई के लिए दिन के समय बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करते हुए किसानों को सुबह 5 बजे से रात के 9 बजे तक बिजली की सप्लाई किए जाने का प्रावधान है. राज्य सरकार ने 2023 तक इस योजना के तहत पारेषण अवसंरचना स्थापित करने के लिए 3500 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है. परियोजना के तहत 220 किलोवाट क्षमता वाले सब स्टेशन के साथ ही 3490 सर्किट किलोमीटर लंबी के 234 ‘66 – किलोवाट क्षमता वाली पारेषण लाइनें लगाई जाएंगी.

योजना का नाम किसान सूर्योदय योजना
द्वारा लॉन्च किया गया पीएम नरेंद्र मोदी और गुजरात सरकार द्वारा
लाभार्थी गुजरात राज्य के किसान
उद्देश्य राज्य में सिचाई के लिए बिजली की आपूर्ति करना

जनवरी अपडेट : किसान सूर्योदय योजना

गुजरात सरकार इस महीने के अंत तक किसान सूर्योदय योजना के तहत 4000 गांवों को कवर करेगी। इसकी घोषणा मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने उत्तर गुजरात के बयाड में की थी। वह महत्वाकांक्षी किसान सूर्योदय योजना के उत्तर गुजरात पैर के लॉन्च के बाद बोल रहे थे। गुजरात सरकार ने 2022 के अंत तक इस योजना के तहत सभी गांवों को कवर करने की योजना बनाई है। पहले चरण में इस योजना के तहत 1 लाख किसानों को कवर किया गया है, जबकि दूसरे चरण में 1 लाख 90 हजार किसानों को शामिल किया जाएगा।

इस योजना के तहत, राज्य सरकार रुपये की अनुमानित लागत पर नई ट्रांसमिशन लाइन और सब-स्टेशन स्थापित करने जा रही है। तीन साल में 35 हजार करोड़ रु। इस योजना का उद्देश्य किसानों को रात के समय सांप और अन्य जंगली जानवरों से बचाना है।

गुजरात किसान सूर्योदय योजना की प्रमुख बाते:

  • इस योजना के तहत जनवरी 2021 से गुजरात सरकार और 4000 नए गांवों को कवर करेगी ।
  • राज्य सरकार ने 2023 तक इस योजना के तहत ट्रांसमिशन बुनियादी ढांचे को स्थापित करने के लिए 3500 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।
  • 234 ,66 -Kilowatt ‘ट्रांसमिशन लाइनें, कुल लंबाई के साथ 3490 सर्किट किलोमीटर (CKM) परियोजना के तहत स्थापित किया जाएगा, 220 केवी सबस्टेशन के अलावा।
  • अगले 2-3 वर्षों में लगभग 3500 सर्किट किलोमीटर नई ट्रांसमिशन लाइनें बिछाई जाएंगी और आने वाले दिनों में एक हजार से अधिक गांवों में इसे लागू किया जाएगा।
  • गुजरात किसान सूर्योदय योजना के तहत पहले चरण में दाहोद, पाटण, महिसागर, पंचमहाल, छोटा उदयपुर, खेड़ा, आणंद और गिर-सोमना जिले को शामिल किया गया है शेष बाकि बचे जिलों को चरणबद्ध तरीके से इस योजना में शामिल किया जायेगा।

किसान सूर्योदय योजना में आवेदन कैसे करे ?

गुजरात राज्य के सभी लोग और जिनके जिल्हो में ये प्रोजेक्ट आया है वो इच्छुक लाभार्थी इस योजना से सिचाई के लिए बिजली प्राप्त करना चाहते है उन्हें थोड़ा इंतजार करना होगा क्युकी हाल ही में PM ने इस योजना का शुभ्रम्भ किया है और जनवरी में और नए 4000 गांवों  को उसमे शामिल किया है | तथा राज्य सरकार ने इस योजना के पूर्ति का लक्ष 2023 तक रखा है इसलिए इसकी आवेदन का नोटिस अभी तक नयी आया है | जैसे ही गुजरात सरकार द्वारा इस Gujarat Kisan Suryoday Yojana के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवेदन प्रक्रिया को शुरू कर दिया जायेगा। हम आपको अपने इस ब्लॉग के माध्यम से बता देंगे।