Rashtriya Swasthya Bima Yojana | RSBY | राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना आवेदन, नामांकन प्रक्रिया

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना | Rashtriya Swasthya Bima Yojana | RSBY Registration | आरएसबीवाय – योजना | Rashtriya Swasthya Bima Yojana नामांकन प्रक्रिया| Enrollment Process | स्‍मार्ट कार्ड| RSBY की विशिष्‍ट बातें| National Health Insurance योजना

केंद्र सरकार ने देश के गरीब और माध्यम वर्ग के नागरिको के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारम्भ किया | यह योजना पूरी तरह से उन गरीब और असंगठित लोगो के लिए है जो दिन की रोजी से काम करते है । हर साल असंगठित क्षेत्र में कामगारों की बीमारी की वजह से मौत हो जाती है क्युकी उनके पास उतनी धनराशि नह होती की वो इलाज कर सकते इसी समयस्या को ध्यान में रखते हुआ सरकार ने असंगठित क्षेत्र में कामगारों के परिवारों के चिकित्‍सा देखभाल तथा उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती करने तक साडी बाते इस योजना में कवर की है | देश में करीब करीब कार्यबल की कुल संख्‍या में लगभग 93 प्रतिशत असंगठित क्षेत्र के कामगार हैं। सरकार ने इन व्‍यावसायिक समूहों के लिए कुछ सामाजिक सुरक्षा प्रदान की है किंतु इनका कवरेज अभी बहुत कम है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की सहायता से, सरकार अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में देश के गरीब नागरिको को कैशलेस उपचार प्रदान करने का मार्ग प्रशस्त करेगी।

Rashtriya Swasthya Bima Yojana

National Health Insurance Scheme का मुख्य उद्देश्य असंगठित क्षेत्र के कामगारों को उनके बुरे वक़्त में मदत करना है | जैसा की आप सब जानते है असंगठित क्षेत्र में कामगारों के लिए एक बड़ी असुरक्षा उनका बार बार बीमार पड़ना है और पुरे अस्पताल के चकित्स्य का आभाव मिलना | निर्धन व्‍यक्ति इसकी लागत या इच्छित लाभ की कमी के कारण स्‍वास्‍थ्‍य बीमा लेने के लिए अनिच्‍छुक होते हैं या सक्षम नहीं होते हैं। स्‍वास्‍थ्‍य बीमा करना और इसे लागू करना, खास तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में, बहुत कठिन है। इन कामगारों को सामाजिक सुरक्षा देने की जरूरत पहचानते हुए केंद्र सरकार ने राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना (आरएसबीवाय) आरंभ की है। 25 मार्च 2013 तक, योजना में 34,285,737 स्‍मार्ट कार्ड और 5,097,128 अस्‍पताल में भर्ती होने के मामले हैं।

National Health Insurance योजना का प्रारंभ

पिछले समय में सरकार ने या तो राज्‍य स्‍तर या राष्‍ट्रीय स्‍तर पर चुने हुए लाभार्थियों को स्‍वास्‍थ्‍य बीमा कवर प्रदान करने का प्रयास किया है। जबकि, इनमें से अधिकांश योजनाएं अपने वांछित उद्देश्‍य पूरे करने में सक्षम नहीं रही थी। आम तौर पर ये इन योजनाओं की डिजाइन और / या कार्यान्‍वयन के मुद्दे थे।

इस पृष्‍ठभूमि को ध्‍यान में रखते हुए, भारत सरकार ने एक ऐसी स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना तैयार की जिसमें ना केवल पिछले योजनाओं की कमियों को दूर किया गया, बल्कि इससे एक कदम आगे जाकर एक विश्‍व स्‍तरीय मॉडल प्रदान किया गया। मौजूदा और पूर्व स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजनाओं की एक आलोचनात्‍मक समीक्षा की गई और इनकी उत्तम प्रथाओं से प्राप्‍त उद्देश्यों और ग‍लतियों से सबक लिया गया। इन सभी को विचार में लेकर और समान व्‍यवस्‍थाओं में विश्‍व के स्‍वास्‍थ्‍य बीमा के अन्‍य सफल मॉडलों की समीक्षा के बाद आर एस बी वाय को डिजाइन किया गया। इसे 1 अप्रैल 2008 से आरंभ किया गया है।

Rashtriya Swasthya Bima Yojana (RSBY) के अंतर्गत, परिवारों को उपचार के लिए 30,000 रुपये का कवर प्रदान किया जाता है। इसके लिए देश भर मे 1.5 लाख से ज्यादा हेल्थ वेलनेस सेंटर खुलेंगे। जिसमे बीमारियों की जांच और उनसे निपटने की जानकारी के साथ नियंत्रण की खास ट्रेनिग भी दी जाएगी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना

योजना का नाम राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना
द्वारा लॉन्च किया गया केंद्र सरकार
लाभार्थी भारत के असंगठित कामगार और नागरिक
उद्देश्य गरीब नागरिको को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करना
आवेदन का तरीका Online/Offline
जाच द्वार(portal) http://www.rsby.gov.in/how_works.html

RSBY  Yojana

नेशनल  हेल्थ  इन्शुरन्स योजना को श्रम और रोजगार मंत्रालय ने भारत सरकार द्वारा गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल)BPL परिवारों के लिए स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान करने के लिए शुरू की गयी है। RSBY का उद्देश्य बीपीएल परिवारों को वित्तीय देनदारियों से सुरक्षा प्रदान करना है जो कि अस्पताल में भर्ती होने वाली एक प्रक्रिया है |

लाभारधी की पात्रता

  • असंगठित क्षेत्र के कामगार जो बीपीएल श्रेणी में आते हैं और उनके परिवार के सदस्‍य (पांच सदस्‍यों की परिवार इकाई) को योजना के तहत् लाभ मिलेंगे।
  • कार्यान्‍वयन एजेंसियों की जिम्‍मदारी होगी कि वे असंगठित क्षेत्र के कामगारों और उनके परिवार के सदस्‍यों की योग्‍यता का सत्‍यापन करें, जिन्‍हें योजना के तहत् लाभ मिलने का प्रस्‍ताव है।
  • इस योजना के तहत असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों का वेतन पैकेज बहुत अधिक नहीं है।उन्हें बीच इस योजना के तहत पात्र माना जायेगा ।
  • लाभार्थियों को पहचान के उद्देश्‍य के लिए स्‍मार्टकार्ड जारी किए जाएंगेjo की पूरी तरह कैशलेस सुविधा वाला होगा ।
  • पॉलिसी धारक को कार्ड प्राप्त करने के लिए 30 रुपये का भुगतान करना होगा।

नेशनल  हेल्थ  इन्शुरन्स योजना के लाभ

इस योजना में जो लाभारदी आंतरिक स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल बीमा लाभों का पत्र जोगा उसे भौगोलिक क्षेत्र की आवश्‍यकता के आधार पर संबंधित राज्‍य सरकारों द्वारा तैयार किया जाएगा। जबकि, राज्‍य सरकारों को पैकेज / योजना में निम्‍नलिखित न्‍यूनतम लाभों को शामिल करने की सलाह दी गई है :

  • असंगठित क्षेत्र के कामगार और उनके परिवार (पांच की इकाई) शामिल किए जाएंगे।
  • प्रति परिवार प्रति वर्ष पारिवारिक फ्लोटर आधार पर कुल बीमा राशि 30,000/- रुपए होगी।
  • सभी शामिल बीमारियों के लिए नकद रहित उपस्थिति।
  • अस्‍पताल के व्‍यय, सभी सामान्‍य बीमारियों की देखभाल सहित कुछ निष्‍कासन संभव हैं।
  • RSBY के तहत सभी पूर्व – मौजूद रोग शामिल किए जाएं।
  • परिवहन लागत (प्रति विजिट अधिकतम 100 रुपए के साथ वास्‍तविक) के साथ 1000 रुपए की समग्र सीमा।
  • स्‍मार्ट कार्ड का मूल्‍य केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाएगा तथा लाभार्थी को कार्ड के नवीनीकरण के लिए केवल 30 रुपये का भुगतान करना होगा |
  • इस योजना में भारत सरकार द्वारा योगदान: 750 रुपए के अनुमानित वार्षिक प्रीमियम की 75 % राशि, प्रति वर्ष प्रति परिवार अधिकतम 565 रुपए होगी |
  • इस योजना में राज्‍य सरकारों द्वारा योगदान : वार्षिक प्रीमियम का 25 % और अन्‍य कोई अतिरिक्‍त प्रीमियम।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए जरुरी दस्तावेज़

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बीपीएल प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

नेशनल  हेल्थ  इन्शुरन्स योजना (RSBY) में आवेदन कैसे करे?

  • इस योजना के तहत सरकार द्वारा सभी क्षेत्रों में सर्वेक्षण एजेंसियों या बीमा कंपनी द्वारा सूची तैयार की जाएगी और बीपीएल परिवारों को चिह्नित किया जाएगा ।
  • बीमा कंपनी के नियुक्त लोग पूर्व निर्दिष्‍ट डेटा फॉर्मेट का उपयोग करके गरीबी रेखा(BPL कार्ड धारक ) वाले परिवारों की एक इलेक्‍ट्रॉनिक सूची बनाएंगे ।
  • बीमा कंपनी द्वारा ति‍थि सहित उस दिन प्रत्‍येक गांव के लिए एक नामांकन अनुसूची बनाई जाएगी जिसमें जिला स्‍तरीय अधिकारियों की सहायता ली जाएगी।
  • यदि क्षेत्र दूर अंतर्देशीय में स्थित है, तो बीमा कंपनी के मालिक मोबाइल (चलते-फिरते) नामांकन शिविर स्थापित करेंगे।
  • उस सूचि के अनुसार नामांकन से पहले प्रत्‍येक गांव के गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों की सूची प्रमुख स्‍थानों में लगाई जाएगी |
  • नामांकन के दिन, सभी इच्छुक उम्मीदवारों को पंजीकरण केंद्रों पर जाना होगा (उदाहरण के लिए पब्लिक स्‍कूल)।
  • वह जाकर इच्छुक उम्मीदवारों अपने बीमा कार्ड बनवाने होंगे। एजेंट मशीनों का उपयोग उम्मीदवार के बायोमेट्रिक डेटा को रिकॉर्ड करने के लिए करेंगे।
  • इन स्‍टेशनों पर बीमाकर्ता द्वारा शामिल परिवार के सदस्‍यों की बायोमेट्रिक जानकारी (अंगुलियों के निशान) प्राप्‍त करने और तस्‍वीर लेने के लिए आवश्‍यक हार्डवेयर तथा फोटो के साथ स्‍मार्ट कार्ड प्रिंट करने के लिए एक प्रिंटर उपलब्‍ध कराया जाता है।
  • इच्छुक उम्मीदवारों को 30 रुपए का शुल्‍क देने के बाद और संबंधित अधिकारी द्वारा स्‍मार्ट कार्ड के साथ अस्पताल की सूचि वाला पेम्पलेट उन्हें देगा जो आपके काम आएगा |
  • इस प्रक्रिया में सामान्‍य तौर पर 10 मिनट से कम का समय लगता है। कार्ड प्‍लास्टिक के कवर में दिया जाता है।

स्‍मार्ट कार्ड का उद्देश्य 

  • स्‍मार्ट कार्ड अनेक गतिविधियों में इस्‍तेमाल किया जाता है, जैसे रोगी के बारे में तस्‍वीर और अंगुलियों के छापे के माध्‍यम से लाभार्थी की पहचान।
  • स्‍मार्ट कार्ड का सबसे महत्‍वपूर्ण कार्य यह है कि इससे नामिकाबद्ध अस्‍पतालों में नकद रहित लेनदेन की सक्षमता मिलती है और ये लाभ पूरे देश में कहीं भी उठाए जा सकते हैं।
  • अभिप्रमाणित स्‍मार्ट कार्ड नामांकन स्‍टेशन पर ही लाभार्थी को सौंप दिए जाएंगे।
  • स्‍मार्ट कार्ड पर परिवार के मुखिया की तस्‍वीर को पहचान के प्रयोजन हेतु इस्‍तेमाल किया जा सकता है, यदि बायोमेट्रिक सूचना असफल रहती है।
  • Rashtriya Swasthya Bima Yojana  से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते है ।

Source: https://www.india.gov.in/